IPPB: 21 अगस्त से शुरू होगा भारत का तीसरा और पहला ‘केंद्रीय’ पेमेंट्स बैंक

सरकार ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की लॉन्चिंग की घोषणा कर दी है। भारतीय डाक के पेमेंट्स बैंक की लॉन्चिंग 21 अगस्त को होने वाली है। इंडिया पोस्‍ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 21 अगस्‍त को लॉन्‍च करेंगे।पेमेंट्स बैंक के लॉन्‍च के साथ ही IPPB ऐप के भी उसी दिन लॉन्‍च हो जाने की उम्‍मीद है। IPPB ऐप की मदद से कस्‍टमर लगभग 100 कंपनियों की सर्विसेज के लिए भुगतान कर सकेंगे। इन सर्विसेज में फोन रीचार्ज व बिल, इलेक्ट्रिसिटी बिल, डीटीएच सर्विस, कॉलेज फीस आदि शामिल हैं। देश के हर जिले में IPPB की कम से कम एक ब्रांच होगी और इसका फोकस ग्रामीण इलाकों में फाइनेंशियल सर्विसेज पहुंचाने पर होगा। IPPB के तहत देश में मौजूद लगभग 1.55 लाख पोस्‍ट ऑफि‍स ब्रांचों में ग्राहकों के लिए बैंकिंग और फाइनेंशियल सर्विस भी उपलब्‍ध होंगी। सरकार इस साल के आखिर तक 1.55 लाख पोस्‍ट ऑफिस ब्रांचों को IPPB सर्विसेज से जोड़ने की कोशिश में है। ऐसा होने पर देश के सबसे बड़े बैंकिंग नेटवर्क की गांवों तक सीधी पहुंच विकसित हो जाएगी।

650 मेन ब्रांच, 3,250 एक्‍सेस प्‍वॉइंट्स

 

IPPB 650 ब्रांचों के साथ शुरू होगा। इसके अलावा पोस्‍ट ऑफिसेज में इसके 3,250 एक्‍सेस प्‍वॉइंट्स होंगे और ग्रामीण व शहरी इलाकों में लगभग 11,000 पोस्‍टमैन लोगों को घर-घर जाकर बैंकिंग सर्विस मुहैया कराएंगे। IMPS ट्रांजेक्‍शन जैसी सर्विसेज होंगी मुहैया

IPPB को अपने अकाउंट से लगभग 17 करोड़ पोस्‍टल सेविंग्‍स बैंक अकाउंट लिंक करने की अनुमति है। IPPB के शुरू हो जाने से ग्रामीण इलाके के लोग डिजिटल बैंकिंग और फाइनेंशियल सर्विसेज का लाभ ले सकेंगे। इसमें मोबाइल ऐप की मदद से या पोस्‍ट ऑफिस जाकर किसी भी बैंक अकाउंट में मनी ट्रांसफर की सुविधा भी शामिल होगी। लोग RTGS, NEFT, IMPS ट्रांजेक्‍शन जैसी सर्विस का लाभ ले सकेंगे। इसके अलावा सरकार पेमेंट्स बैंक का इस्‍तेमाल नरेगा का वेतन, सब्सिडी, पेंशन आदि बांटने में भी करेगी।

IPPB देश का तीसरा पेमेंट्स बैंक होगा। इससे पहले एयरटेल और पेटीएम अपना पेमेंट्स बैंक शुरू कर चुके हैं। पेमेंट्स बैंक सेविंग्‍स अकाउंट में कोई भी व्‍यक्ति या छोटे बिजनेस केवल 1 लाख रुपए तक की राशि जमा कर सकते हैं। अब देखना ये होगा कि IDPB की ऐप्प कितनी सुरक्षित और कार्यसक्षम होगी।